IPL Teams के Owners पैसा कैसे कमाते हैं, how IPL teams Owners Earn Money

IPL यानी की Indian Premier League, इसकी शुरुआत वर्ष 2008 में हुई थी जबकि T 20 cricket की शुरआत 2007 में IPL से एक साल पहले हुई थी।हम यहां जानेंगे की आईपीएल के owners पैसा कैसे कमाते हैं, how IPL teams Owners Earn money

आज आईपीएल दुनिया की छठी सबसे बड़ी स्पोर्ट्स league है जिसमें भारत के प्लेयर्स के साथ विदेशी खिलाड़ी भी खेलते हैं यही इस खेल को और लोकप्रिय बनाता है क्योंकि क्रिकेट फैंस को अपने फेवरेट विदेशी खिलाड़ियों को भारतीय players के साथ खेलते देखना का मौका मिलता है।

जैसा कि आप जानते हैं आईपीएल league शुरू होने से पहले एक auction यानी की नीलामी होती जिसमें आईपीएल की teams players को खरीदती हैं। Players की नीलामी ठीक वैसे ही होती है जैसे किसी गाड़ी या घर की। सभी teams players पे बोली लगती हैं और जो टीम सबसे ज्यादा पैसा लगाती है खिलाड़ी उसकी टीम में चला जाता है।

IPL के इतिहास के 10 सबसे महंगे खिलाड़ी

आप यह जानकर चौंक जाएंगे कि टीम इन प्लेयर्स को काफी भारी रकम देकर अपनी टीम में शामिल करती हैं। नीचे कुछ प्लेयर्स हैं जो आईपीएल के इतिहास में सबसे महंगे खिलाड़ी साबित हुए।

1) Chris Morris – 16.25 Crores – Rajsthan Royals

2) Yuvraj Singh – 16 Crore – Delhi Daredevils

3) Pat Cummins – 15. 5 Crore – Kolkata Knight Riders

4) Kayle Jeminson – 15 Crore – Royal Challengers Bangalore

5) Ben Stokes – 14.25 Crores – Rajsthan Royals

6) Glen Maxwell – 14.25 Crores – Royal Challengers Bangalore

7) Jahye Richerdson – 14 Crores – Punjab Kings

8) Yuvraj Singh – 14 Crores – Royal Challengers Bangalore

9) Ben Stokes – 12.5 Crores – Rising Pune Supergiants

10) Dinesh Kartik – 12.5 Crores – Delhi Daredevils

Players को दी जाने वाली धनराशि देख कर आप यकीनन चौंक गए होंगे । अब हम देखेंगे की जो टीम IPL का फाइनल मुकाबला जीतती है उसे कितना इनाम मिलता है।

IPL विजेता टीम को कितनी धनराशि दी जाती है?

बता दें कि आईपीएल में अभी कुल 8 teams हैं जो कि आपस में मैच खेलते हैं और जो टीम आईपीएल फाइनल मुकाबला जीतती है उसे Winner Trophy और साथ में खूब पैसा भी दिया जाता है। आप नीचे देख सकते हैं कि कोनसी टीम को कितना पैसा मिलता है।

Winner Team – 20 Crore

Runners-up – 12.5 Crore

Third Place – 8.75 Crore

Fourth Place – 8.75 Crore

हालांकि यह धनराशि fix नहीं होती। जैसा कि Covid 19 के चलते 2020 और 2021 में यह धनराशि कम कर दी गई थी।

अब आपने देखा कि टीम अपने प्लेयर्स में कितना पैसा लगाती हैं और विजेता टीम को कितना पैसा मिलता है।
अब आप जब इनकी तुलना करेंगे तो आप सोचेंगे कि ऐसे तो टीम के owners को नुकसान हो जाता होगा ।
पर ऐसा नहीं है। हम यहां जानेंगे की ipl टीम के owners पैसा कैसे कमाते हैं।

उससे पहले हम IPL teams के owners पे एक नजर डालते हैं।

IPL teams के owners के नाम

KKR – Red Chillies Entertainment और मेहता Gruops

CSK – Indian Cement Limited

RCB – United Spirits Limited

MI – Reliance Industries Limted

Delhi Capitals – GMR group और JSW group

Punjab Kings – प्रीति जिंटा, नेस वाडिया, करण पॉल और मोहित बर्मन

SRH – कलानिधि मारन और Sun TV network

RR – मनोज बदले और Lachlan Murdoch

यहां पर अपने जाना की आईपीएल teams के owners कौन हैं अब हम यह जानेंगे की आईपीएल टीम के owners पैसा कैसे कमाते हैं।

आईपीएल टीम के owners पैसा कैसे कमाते हैं?

जैसा कि हमने जाना की आईपीएल फ्रेंचाइजी अपने प्लेयर्स पे काफी सारा पैसा खर्च करती हैं उन्हें खरीदने में और फिर उनकी ट्रेनिंग, रहन सहन में जो कि विजेता टीम को मिली धन राशि से काफी अधिक होता है।

नीचे दिए हैं आईपीएल franchise के income के तरीके जिनसे ये फ्रेंचाइजी अपना पैसा recover करती हैं।

1) Ads Marketing

Ads marketing मतलब किसी product का प्रोंशन करना और बदले में प्रोडक्ट की कंपनी अच्छा खासा पैसा देती है।
एड्स Marketing IPL franchise का main revenue source है। आपने देखा होगा की आईपीएल लाइव प्रसारण के बीच में कई ऐसे advertisements आते हैं जिसमें क्रिकेटर्स किसी प्रोडक्ट को प्रोमोट करते नजर आते है।

Example के तौर पे जैसे आपने देखा होगा कि मुंबई इंडियंस के तीन खिलाड़ी ACKO के बारे में बताते नजर आते हैं और ACKO app को use करने की सलाह देते हैं। बता दें कि ACKO एक ऑनलाइन कर सर्विसिंग प्लेटफॉर्म है।

इसमें क्या होता है की आईपीएल franchise Apne खरीदे हुए प्लेयर्स को एड कंपनी को देता है और बदले में Companies franchise को खूब सारा पैसा देती हैं। इस पैसे को खिलाड़ी को नहीं दिया जाता बल्कि यह पैसा आईपीएल owners के पास ही जाता है।

2) Central Revenue

बता दें कि आईपीएल franchise सबसे ज्यादा पैसा central revenue से ही कमाता है। Central Revenue के 2 types हैं। पहला है Broadcasting और दूसरा है Sponsorship.

I) Broadcasting

इसमें टीवी channels को और ऑनलाइन streaming Platforms को आईपीएल के broadcasting rights खरीदने होते हैं। और उसके बदले में BCCI खूब सारा पैसा लेता है।

अभी टीवी channels पे लाइव stream का broadcasting rights Star Sports के पास है और लाइव streaming Platforms का rights hotstar के पास है।

जब आईपीएल शुरू हुए थे तब sony pictures ने आईपीएल के broadcasting rights 10 साल के लिए खरीद लिए थे 4000 Crore रूप्ए में। 10 साल पूरे होने के बाद इस contract को स्टार स्पोर्ट्स ने 5 साल के लिए खरीद लिया करीब 16000 Crore रुपए में।

बीसीसीआई यह पैसा franchise को बराबर बाट देती है । अब आप सोच रहे होंगे कि एक मैच दिखाने के लिए कोई इतने पैसे क्यों देगा। आपको बता दें कि आजकल सभी लोग इंटरनेट और टीवी पर मैच देखना पसंद करते हैं और यह तो सब जानते हैं कि इंडिया में आईपीएल कितना पॉपुलर है।

आईपीएल के मैच देखते समय आपने देखा हुआ कि बीच में एक 10 सेकंड का ऐड आता है उस 10 सेकंड के स्लॉट को Companies पैसा देकर खरीदती हैं जिससे उस समय उनके प्रोडक्ट का प्रमोशन हो सके और उस पैसे को जिस चैनल ने ब्रॉडकास्टिंग राइट्स खरीदे हैं उसे दे दिया जाता है।

बता दें कि इस 10 सेकंड के लिए कंपनी चैनल्स को करीब ₹10 लाख देने को तैयार हो जाती हैं इस तरह जिस कंपनी ने ब्रॉडकास्टिंग राइट्स खरीदे होते हैं वह मुनाफा कमाती है।

II) Sponsorship

स्पॉन्सरशिप कई तरह की होती हैं जैसे कि टाइटल स्पॉन्सरशिप ,आपने नोटिस किया हुआ कि जब आईपीएल शुरू हुआ था तब उसका नाम था डीएलएफ आईपीएल फिर पेप्सी आईपीएल और अभी विवो आईपीएल ।

Find Vaccination Center using Facebook 

VIVO ने IPL के title को 4 साल के लिए retain कर लिया 2000 Crore रुपए में। यह पैसा भी बीसीसीआई franchise को बराबर बाट देती है। Title sponshership के अलावा और बहुत सारे sponshership होते हैं ।

जैसे स्ट्रैटेजिक timeout का sponsher CEAT Tyres है, सिक्स का स्पोंशर Unacademy है, पावरप्ले का sponsher क्रेड है, कैच का sponsher VIVO है। हमें bat, हेलमेट, pads, umpires और बाउंड्री rope तक के sponsher देखने को मिल जाएंगे।

ये सब companies BCCI को पैसा देती हैं और इस पैसे को बीसीसीआई franchise को बराबर बाट देता है।

Local Revenue

जितने भी छोटे revenue source होते हैं बो लोकल revenue के अंतर्गत आते हैं। जैसे टिकट selling , Local Sponshership और प्राइज money . Ticket selling से जो पैसा आता है बो जो टीम मैच खेल रही होती हैं और Ipl ऑर्गनाइजर्स के बीच 80:20 के अनुपात में बाट दिया जाता है।

Example के लिए जैसे MI Vs KKR के मैच में मान लो अगर 1 Crore रूप्ए टिकट selling से आए तो इन पैसों का 80 लाख teams को दे दिया जाएगा और 20 लाख आईपीएल ऑर्गनाइजर्स को।

लोकल Sponshership टीम की popularity pe depend करती है जो टीम ज्यादा पॉपलुर होगी या जिसकी fan following अधिक होगी उस टीम को Sponshership मिलने के उतने है जायदा चांस हैं।

प्राइज money जैसा कि हमने बताया winning team को 20 Crore और runners up को 12.5 Crore रुपए मिलते हैं। इस prize money का 50 percent हिस्सा फ्रेंचाइजी को और बाकी 50 percnet टीम को मिलता है।

Introduction Of 5G in India

अब आप को यह तो पता लग ही गया होगा की आईपीएल franchise IPL से काफी भारी मुनाफा कमाती हैं । मुनाफे के साथ आईपीएल teams के कुछ expenses यानी की खर्च भी होते हैं। आईपीएल टीम के मुख्य खर्च teams के ट्रेनिंग, stay, transport , food and travel के होते हैं।

कुल मिलाकर ये खर्च 120 से 130 crore के बीच में होते हैं। लेकिन इन फ्रेंचाइजी में किया गया investment लगभग 200 percnet मुनाफे से रिटर्न होता है।

ये थे आईपीएल franchise के सभी revenue resources जिनसे ये आईपीएल टीम के owners पैसा कमाते हैं। दोस्तो अगर देखा जाए तो आईपीएल एक खेल ही नहीं बल्कि फैंस के लिए entertainment स्रोत, मीडिया के लिए ब्रेकिंग न्यूज, बिज़नेस man के लिए इन्वेस्टमेंट सेक्टर, बीसीसीआई के लिए revenue source, companies के लिए ब्रांड प्रोमोशन और लाखो लोगो के लिए रोजगार है।

क्रिकेट फैंस आईपीएल को त्योहार के रूप में मानते हैं। उम्मीद है ये जानकारी आपको पसंद आई होगी। इस तरह की एंटरटेनमेंट, बिजनेस और सोशल issues के बारे में जानने के लिए हमारी website को रोज़ visit करें।

इसे भी पढ़ें – Corona Vaccine के लिए रजिस्टर कैसे करें। 

1 thought on “IPL Teams के Owners पैसा कैसे कमाते हैं, how IPL teams Owners Earn Money”

Leave a Comment